Wednesday, October 23, 2013

LocalBanya - Mumbai's very own Online Grocery Store

मुंबई का बनिया अब बन गया - लोकलबनिया

अपूर्व सक्सेना - जयपुर 

 

क्या आपने कभी मॉल में परचून का सामान (ग्रोसरी) खरीदा है ? जी हाँ ज़्यादातर लोगों ने किसी न किसी बड़े मॉल में मिलने वाले घर के खाने पीने के सामान की स्कीम्स का लाभ भी उठाया होगा पर कभी ये सोचा है की आप चाहे पचासियों सामान ले या फिर एक सामान , लाइन में खड़ा होना एक ऊंचे पाहड को पार करने के समान है। ये आपके उस गुनाह की सज़ा है जो आपको इन मन लुभावन स्कीम्स को पाने के लिए आपको इन मॉल्स तक खींच लाती है, कहना गलत नहीं होगा। ये कहना भी गलत नहीं होगा की उस समय आपके मन में कई ऐसे विचार आतें होंगे कि काश कोई डिपेंडेबल ऑनलाइन परचूनिये या किराना स्टोर होता जो आपकी ये लाइन में खड़े होने की प्रॉब्लम घर बैठे ही सॉल्व कर देता, है न ? 
 
स्रोत : www.localbanya.com
देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में इन्टरनेट की सुविधा और शहरों से काफी अच्छी है और मुंबई के लोग दिनोदिन इन्टरनेट के प्रती काफी जागरूक होते जा रहे है। वैसे तो ऑनलाइन किराना स्टोर की ज़रुरत काफी समय से महसूस की जाती रही है और मुझे ये बात आपसे शेयर करते हुए बड़ी ख़ुशी हो रही है की कोई है जिसने इस आईडिया को गंभीरता से लिया और अपने ऑनलाइन किराना स्टोर को स्थापित भी कर लिया है। मैं बात कर रहा हूँ लोकलबनिया के बारे में।

लोकलबनिया मुंबई का पहला ऑनलाइन किराना स्टोर है जहां आपको आपकी ज़रुरत की सभी चीज़ें आकर्षक दामों पर घर बैठे मिलती है। आपको सभी उत्पाद डिस्काउंटेड रेट्स पर मिलतें है और साथ ही साथ फ्री होम डिलीवरी भी। चौंक गए न ? चौंकिए मत अब ऐसी सेवा मुंबई में अपने पूरे जोरो पर चल रही है। 
 
लोकलबनिया आईडिया की उपज करण, राशि और अमित की है, इन तीनो बनियों के बीच एक बात कॉमन है और वो है इनका अनुभव जो FMCG के डिस्ट्रीब्यूशन मॉडल, रिटेल प्रबंधन और साथ ही साथ ऑनलाइन प्रोडक्ट की मार्केटिंग से जुडा हुआ है। ये किसी चमत्कार से कम नहीं कि इन तीनो दोस्तों के बीच यूं ही बातों बातों में लोकलबनिया का आईडिया चल निकला , ये बस कुछ समय की बात ही थी की तीनो ने ये सोचा कि " हम इससे करेंगे " और लोकलबनिया की वेबसाइट मुंबई के लोगो के सामने आ गयी।

स्रोत: www.localbanya.com
 ऐसा नहीं है की ऑनलाइन किराना स्टोर के बारे में मुंबई में लोगो ने पहले नहीं सोचा होगा या उसके बारे में बात नहीं की हो, पर इस यूनिक आईडिया पर काम करना और फिर इसे बाज़ार में लाना एक अलग बात है, जिसके पीछे कड़ी मेहनत और लगन छिपी हुई है, इन तीनो की लगभग साल भर की मेहनत के पीछे उन छोटी सी छोटी चीज़ों पर प्लानिंग का नतीजा, लोकलबनिया है, जिसने वेबसाइट के लॉन्च होने के कुछ दो हफ़्तों में ही काफी पॉपुलैरिटी बना ली थी और कस्टमर्स के ऑर्डर्स को ध्यान में रखते हुए संस्थापकों को अपनी टीम को बढ़ाना पडा। ये एक अच्छी शुरुआत थी।

 लोकलबनिया की सोच बड़ी सरल है और वो है " अपने कस्टमर्स को इतना बढ़िया जानो ताकि हम उन्हें बढ़िया ढंग से सेवा दे सकें " इसे वे सिर्फ कहते ही नहीं पर कर कर दिखातें भी है। नकली मूंछों के साथ बनिए, किराना के सामानों की तो डिलीवरी करतें ही है पर इसके अलावा वे घर बार में रोज़मर्रा में इस्तेमाल होनेवाली चीज़े जैसे प्याज, आलू, टमाटर आदी, को भी बहुत ही कम दामों पर लोगों तक पहुंचाते है, लोकलबनिया के अनोखे मार्केटिंग से उसने अपने कस्टमर्स की नब्ज़ को बढ़िया ढंग से पकड़ रखा है जो लोकलबनिया की लोकप्रियता बयान करता है। 
 
 
स्रोत : www.localbanya.com
 
लोकलबनिया का लक्ष्य अपने पड़ोस के उस बनिए जैसा बनने का है जो की " सुविधाजनक हो, भरोसेमंद हो और साथ ही साथ आपका साथी हो "। मुझे इन तीनो युवा एन्त्रेप्रेनेउर्स (entrepreneurs) की एक बात बढ़ी ही अच्छी लगी और वो है, भारतीय मार्किट में जिस चीज़ की सबसे ज्यादा कमी थी, उस पर उन्होंने सबसे ज्यादा ध्यान दिया है और वो है - एक कस्टमर जो पैसे देकर सामान लेता है उसके प्रती एक आत्मीयता की, स्वाभाविक सोच और समझ की।
 
स्रोत : www.localbanya.com
फिलहाल लोकलबनिया आपका आर्डर फ़ोन पर नहीं लेता, अपने किराना का सामान आर्डर करने के लिए आपको उनकी वेबसाइट पर ही जाना होगा। लोकलबनिया के बारे में या फिर उनके प्रोडक्ट्स पर कौन सी स्कीम्स चल रही है, जानने के लिए उनके फेसबुक और ट्विटर पेज पर भी जा सकतें है।