Thursday, October 17, 2013

WONOBO - A Tale of Two Brothers from Mumbai to Google Street View

वोनोबो - मुंबई के दो भाईयों के गूगल स्ट्रीट का जवाब !

 अपूर्व सक्सेना - जयपुर

ये दो भाईयों की उस जज़्बे की कहानी है जिसने गूगल जैसी कंपनी को मात दी है। सोल और साजिद मलिक ने एक ऐसी वेबसाइट डेवेलप की है जिसका नाम है वोनोबो । वोनोबो ने भारत के प्रमुख शहरों की सड़कों के असंख्य फोटोज की फोटोग्राफी कर उन फोटोज को एक श्रंखलाबद्ध तरीके से 360 डिग्री का पैनोरमिक दृश्य प्रदान किया है। ये बिलकुल कुछ उसी तरह है जैसे गूगल ने अपने गूगल स्ट्रीट व्यू के ज़रिये विश्व के कई अन्य शहरों में किया है।

स्रोत : (www.wonobo.com)

गूगल जैसी एक विश्वविख्यात कंपनी तक को भारत में इस तरह की सेवा देने में कई सरकारी विभागों से अनुमती नहीं मिल पाने के कारण, अभी तक पापड़ बेलने पड़ रहे है पर मुंबई की इस छोटी सी मैपिंग कंपनी ने कमाल कर दिखाया जिन्होंने भारत के ५४ शहरों को अपने फुटप्रिंट में रखा है, जिसका पूरा श्रेय सोल और साजिद मलिक  को जाता है जिन्होंने अपनी कंपनी जेनेसिस इंटरनेशनल जिसे उन्होंने सन १९९५ में शरू की थी, उसके ज़रिये वोनोबो की शुरुआत १५ अक्टूबर २०१३ को मुंबई में की । ये किसी भी स्टार्टअप कंपनी के लिए एक बड़े फख्र की बात है उसने गूगल जैसी कंपनी पर जीत हासिल की हो ।

जैसा की साजिद मलिक ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया को कहा कि उनकी इस सफलता का श्रेय उनकी पैरेंट कम्पनी को जाता है जिसने भारत सरकार के कई मैपिंग प्रोजेक्ट्स पर कई सालों तक काम किया है और उन्ही की मदद से वोनोबो आज अपने मुकाम पर पहुंचा है।

उन्होंने कहा " सड़कों की फोटोग्राफी करने के लिए सरकार तथा अन्य विभाग जैसे डिफेन्स मिनिस्ट्री और सर्वे ऑफ़ इंडिया ने हम पर कई नियम थोपे पर हमने बड़े ही परिश्रम कर उनकी सभी नियमों की पालना की यहाँ तक की सवेदनशील इलाकों की फोटोग्राफी भी नहीं की " .

एक और बात जो जेनेसिस के लिए फायदे का सौदा हुई और वह है उसका लोकल कम्पनी होना जिसका डाटा लोकल सर्वर्स पर ही होस्टेड है। ये कम्पनी एक सेवा प्रदाता कंपनी है जिसका मुख्य काम नैव्टेक (इलेक्ट्रॉनिक नैवीगेब्ल मैप्स के प्रदाता) नोकिया और बिंग जैसी और अन्य कम्पनीयों के लिए मैपिंग सर्विसेज मुहैया कराना है . जेनेसिस ने दुबई, मक्का और मदीना जैसे शहरों के लिए भी डिजिटल मैप्स बनाएं है.

वोनोबो स्ट्रीट व्यू की सेवाएं अभी भारत के बारह शहरों तक ही सीमित है जिनमे मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरू , चेन्नई , हैदराबाद , अहमदाबाद , सूरत , जयपुर , तटीय गोवा , कोलकाता , आगरा और पुणे शामिल है अगले कुच्छ हफ़्तों बाद भारत के अन्य ४२ शहर इस लिस्ट में जुड़ जायेंगे।

वोनोबो, भारतीय पर्यटन के साथ मिलकर उन टूरिस्ट जगहों को भी दिखाने का प्रबंध कर रहा है जो पर्यटन के हिसाब से बड़ी महत्तवपूर्ण हैं।

वोनोबो ने अपने चित्र काफी उच्च रिज़ॉल्यूशन के खींचे है पर वेबसाइट पर इसके उच्च रिज़ॉल्यूशन को थोडा कम कर दीया गया है क्यूंकि आज भी हमारे देश में इन्टरनेट की स्पीड अन्य देशों के मुकाबले बड़ी कम है। मोबाइल में इस सेवा का आनंद उठाने के लिए इसकी रिज़ॉल्यूशन को और कम रखा जाएगा " हम जल्द ही इसका मोबाइल एप्प बाज़ार में लायेंगे " ऐसा साजिद मलिक कहतें है।