Thursday, November 14, 2013

You Alone Can Fight a Big Battle - Management Funda - N Raghuraman - 14th November 2013


बड़ी लड़ाई आप अकेले भी लड़ सकते है

मैनेजमेंट फंडा - एन. रघुरामन


बिना अतिरिक्त पैसे दिए नया गैस कनेक्शन कैसे लें? सवाल न जाने कितने लोगों के दिमाग में कौंधता रहता होगा। तो इसके 10 तरीके यहां बताए जा रहे हैं..
 
1. नजदीकी गैस एजेंसी पर जाइए। वहां नए कनेक्शन और उसके चार्ज के बारे में पूछताछ कीजिए। इस दौरान वॉयस या वीडियो रिकॉर्डिग के लिए (जो भी उपलब्ध हो) अपना फोन तैयार रखिए। गैस एजेंसी का कर्मचारी आपको दो सिलिंडर के कनेक्शन के लिए 10,000 रुपए बताएगा। हो सकता है इससे ज्यादा भी बताए।
 
2. आप उस कर्मचारी से फिर कहिए कि आपको सिर्फ दो सिलिंडर वाला कनेक्शन ही चाहिए। इसके अलावा और किसी चीज की जरूरत नहीं है। इसके बाद भी कर्मचारी वही कीमत बताएगा। साथ में यह वादा भी करेगा कि तीन दिन के भीतर नया कनेक्शन मिल जाएगा। कर्मचारी के साथ हुई बातचीत को रिकॉर्ड कीजिए। 
 
3. एजेंसी मैनेजर के पास जाकर दोबारा पूरी जानकारी को चेक करें। उससे हुई बातचीत को भी रिकॉर्ड करें। आप पाएंगे कि मैनेजर और कर्मचारी की ओर से बताई गई कीमत में कोई फर्क नहीं है।
 
Source: You Alone Can Fight a Big Battle - Management Funda By N Raghuraman - Dainik Bhaskar 14th November 2013
 4. वापस घर जाकर उस गैस एजेंसी के ऑनलाइन पोर्टल पर जाएं, जिससे आप कनेक्शन ले रहे हैं। कंप्लेंट सेक्शन में जाएं और वहां ज्यादा कीमत बताए जाने की शिकायत दर्ज कराएं। अपनी पूरी जानकारी और फोन नंबर जरूर लिखें। वह ऑडियो-वीडियो भी अपलोड कर दें जो एजेंसी पर रिकॉर्ड किया गया था।
 
5. तीन दिन में पेट्रोलियम मंत्रालय आपकी शिकायत की जांच करेगा। आपका गैस डिस्ट्रीब्यूटर भी आपको फोन करेगा। तब आप उससे कनेक्शन के एवज में लगने वाली कीमत का पूरा ब्रेकअप मांगिए। यानी कहां-किस मद में कितना पैसा लिया जा रहा है। सब मिलाकर 4,100 रुपए से ऊपर नहीं होना चाहिए।
 
6. मैनेजर आपसे ‘नो योर कस्टमर’ (केवाईएसी) फॉर्म ऑनलाइन भरने को कहेगा। आप फॉर्म भरने के बाद सभी जरूरी दस्तावेज-जैसे एड्रेस प्रूफ, फोटो आईकार्ड और दो तस्वीरें लेकर उससे मिलें।
 
7. आप जब केवाईसी और दस्तावेज के साथ मैनेजर से मिलेंगे तो वह एक सप्ताह में कनेक्शन जारी होने का वादा करेगा। (हालांकि हर बार ऐसा नहीं हो पाएगा और उसके पीछे बहाने भी तैयार मिलेंगे।)
 
8. आप दिमाग ठंडा रखें और सप्ताह भर में दो-तीन बार एजेंसी के मैनेजर और स्टाफ से मिल आएं। यानी जब तक कनेक्शन जारी न हो जाए आपको उन लोगों को इसकी याद दिलाते रहना है। अधिकतम तीन सप्ताह में आपके दस्तावेज तैयार हो जाएंगे। तब आपको एजेंसी की ओर से कहा जाएगा कि आप आकर गैस कनेक्शन ले जाएं। उसके एवज में पैसे जमा कर जाएं।
 
9. यह वो वक्त होगा जब आप गैस एजेंसी के स्टाफ के साथ अपने मतभेद दूर करने की कोशिश कर सकते हैं। लेकिन इस बार भी एजेंसी पर होने वाली हर बातचीत की ऑडियो या वीडियो रिकॉर्डिग करना न भूलें। एजेंसी का मैनेजर और स्टाफ पहले से आपसे नाराज होगा। क्योंकि आपकी वजह से उसके खिलाफ पेट्रोलियम मंत्रालय ने जांच बिठाई थी। जब उनसे मतभेद दूर करने के लिए बात करेंगे तो फिर वह आपको गैस कनेक्शन के साथ स्टोव और दूसरी चीजें लेने के लिए दबाव बनाएगा। आप उसे साफ मना कीजिए। बताइए कि किसी भी ग्राहक पर ऐसा दबाव नहीं बनाया जा सकता, बनाया तो आप दूसरी शिकायत दर्ज करा देंगे।
 
10. जाहिर तौर पर इस बार मैनेजर आपसे निवेदन करेगा कि ऐसा न करें। और वह तुरंत दोनों नए सिलिंडर जारी कर देगा। इस पूरी प्रक्रिया में कुछ महीने लग सकते हैं। लेकिन यकीन मानिए गैस कंप्लेंट पोर्टल जबरदस्त काम कर रहा है। आईटी प्रोफेशनल रितुराज कुमार ने इसका भरपूर इस्तेमाल किया है। वे 26 साल के हैं और उनकी हाल में ही शादी हुई है। बिना अतिरिक्त पैसा दिए उन्होंने भारत गैस के डिस्ट्रीब्यूटर से नया कनेक्शन पाया है। हालांकि इसके लिए उन्होंने आठ महीने संघर्ष किया। रितुराज बिहार में गया जिले के पटवाटोली के हैं। आईआईटियन हैं। कभी न समझौता करने वाले इंसान भी। उन्होंने तय कर लिया है कि वे किसी भी चीज के लिए रिश्वत नहीं देंगे। इसे उन्होंने अपना सिद्धांत बना लिया है। इसी पर चलते हुए उन्होंने नए गैस कनेक्शन के लिए भी अतिरिक्त पैसा देने से इनकार कर दिया।


फंडा यह है कि … 


कई लोग यह कहते मिल जायेंगे कि मैं अकेले भ्रष्ट व्यवस्था से नहीं लड़ सकता, लेकिन यह सिर्फ बहाना ही है।  ऋतुराज की कहानी हम सब के लिए एक मिसाल है। यह हमें व्यवस्था से अकेले ही लड़ने के लिए प्रोत्साहित करती है।  





































Source: You Alone Can Fight a Big Battle - Management Funda By N Raghuraman - Dainik Bhaskar 14th November 2013